उप निरीक्षक रोशनी सिंह का पीएससी में चयन


सहायक संचालक उद्योग बनीं -तीसरी बार में मिली सफलता
पति अरविंद सिंह राठौर रीवा में हैं थाना प्रभारी 

भोपाल। नौकरी करने के साथ पीएससी की तैयारी की। दो बार असफलता हांथ लगी, फिर भी रोशनी हताश नहीं हुई। तीसरी बार पीएससी में उसका चयन हो गया। रोशनी पीएससी में चयनित होने बाद अब उप निरीक्षक पुलिस फिंगर प्रिंट की नौकरी छोंडकर सहायक संचालक उद्योग होगी। पीएससी में चयन होने बाद रोशनी ने कहा कि अगर लक्ष्य लेकर मेहनत की जाये तो परिणाम सार्थक आते हैं। उन्होंने कहा कि उपनिरीक्षक की नौकरी करने के साथ पीएससी की तैयारी जारी रखी और मेेरे पति ने भरपूर सहयोग किया जिसके कारण आज मै इस मुकाम तक पहुंची हूं।  
रोशनी सिंह मूलरूप से भोपाल की निवासी है। वे सामान्य परिवार से है। वर्ष 2017 मेें उपनिरीक्षक के पद पर चयन हुआ। रीवा में ज्वाइन करने के बाद अपनी पढ़ाई जारी रखी। इनकी सादी भी उपनिरीक्षक अरविंद सिंह राठौर के साथ 2020 में हुई। दोनों पति-पत्नी पीएससी की परीक्षा में पुलिस की नौकरी करते हुए बैठते रहे। अरविंद तो एकाधबार बैठने के बाद फिर उम्मीद छोड़ दी, लेकिन दो बार रोशनी पीएससी में असफल हुई, बावजूद इसके मेहनत करने में कोई कमी नहीं की। लिहाजा उन्हे सफलता मिली। आाज  ही जारी हुई पीएससी की मैरिट लिस्ट में उनका नाम आया। जिसमें उन्हे सहायक संचालक उद्योग एवं प्रबंधन के पद पर चयन हुआ है। अरविंद राठौर वर्तमान में रीवा शहर के अमहिया थाना के प्रभारी हैं। अरविंद ने कहा कि यह सब माता पिता के आर्शिवाद प्रतिफल है। मेरे मन में था कि रोशनी को सिविल की नौकरी मिले और वह सफल हुई। 

Comments

Popular posts from this blog

उपहार की गर्मजोशी से खिले गरीबों के चेहरे

चर्चा का विषय बना नड्डा के बेटे का रिसेप्शन किट

लंका पर भारत की विराट जीत, सेमीफाइनल में पहुंचा