बरैया ने कमलनाथ की अक्षमता को राष्ट्रीय पटल पर उजागर किया: अग्रवाल

 


भोपाल। भोपाल में गुरुवार को हाई पॉलिटिकल ड्रामा देखने को मिला। नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायक फूल सिंह बरैया अपना मुंह काला करने के लिए राजभवन के लिए निकले। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने उन्हें रास्ते में ही रोक लिया और मुंह काला नहीं करने दिया। दिग्विजय सिंह ने बरैया को काला टीका लगाकर उनका वचन पूरा कराया। इस समूचे प्रकरण पर विधायक फूल सिंह बरैया पर तंज कसते हुए भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी आशीष अग्रवाल ने कहा कि फूल सिंह बरैया ने अपना मुंह काला कराकर अप्रत्यक्ष तौर पर कमलनाथ जी के नकारा नेतृत्व का ढोल पूरे देश में पीटा है। इसे कहते हैं, सांप भी मरे और लाठी भी न टूटे...। श्री अग्रवाल ने कहा कि दिग्विजय सिंह के षड्यंत्र से प्रभावित होकर कांग्रेस की करारी हार पर स्वयं का मुंह काला कराकर फूल सिंह बरैया ने अपने नेतृत्व की अक्षमता को राष्ट्रीय पटल पर उजागर कर दिया। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी आशीष अग्रवाल ने कहा कि अब तक दिग्विजय सिंह और अरूण यादव जैसे नेता ही कमलनाथ को निपटाने में लगे रहते थे, अब उस गुट में आज फूलसिंह बरैया ने जोरशोर से आमद दर्ज कराई है। गौर तलब है कि दतिया जिले की भांडेर सीट से विधायक का चुनाव जीते फूल सिंह बरैया ने चुनाव से पहले उन्होंने दावा किया था कि अगर भाजपा की मध्यप्रदेश में 50 सीट भी आती हैं तो वे अपना मुंह काला करेंगे। विधानसभा चुनाव में भाजपा को 230 सीट में से 163 सीट मिली। इसके बाद से ही सोशल मीडिया पर बरैया को अपना वचन निभाने की नसीहत दी जा रही थी।

Comments

Popular posts from this blog

उपहार की गर्मजोशी से खिले गरीबों के चेहरे

चर्चा का विषय बना नड्डा के बेटे का रिसेप्शन किट

लंका पर भारत की विराट जीत, सेमीफाइनल में पहुंचा